Nagmani hote hai ya nahin

Nagmani hote hai ya nahin

क्या सच में नागमणि होते हैं।

नाग मणि का रहस्य

Nagmani kahan hoti haiदोस्तों जब कोई घर में या आस पड़ोस में सांप निकल आता है या फिर जब किसी सपेरे के पास है हम कोई सांप देख ले तब आपके आस-पास में कोई ना कोई व्यक्ति आपसे सवाल कर ही देता है कि यह सांप कौन सा है।

nagmani kahan hoti hai

नाग मणि का रहस्य – आम जिंदगी में या कोई फिल्म में देखने या सुनने को मिल ही जाती है कि इच्छाधारी नाग नागिन की बातें सुनने को मिल ही जाती है। पर इस कांसेप्ट में कभी लॉजिकल चीजें मिल नहीं पाती है जिससे यह पता चल पाए की रियल लाइफ में नागमणि या इच्छाधारी नाग नागिन भी होते हैं। आज के इस पोस्ट में हम इसी रहस्य के बारे में नागमणि सच में होते हैं या नहीं यह बताने वाले हैं यह जानने के लिए आप इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें।

nagmani kahan hoti hai

 

Nagmani kaisi hoti hai आप सभी जानते हैं कि विज्ञान उसी बात को मानता है जिसका कोई प्रमाण हो और जिसमें लॉजिक हो। आजकल के लोग 21वीं सदी में जीने वाले लोग हैं जो पूरी तरह से विज्ञान पर निर्भर करते हैं और कुछ ऐसा कि हमारे जीवन में हर जगह साइंस है यत्र तत्र सर्वत्र अगर हम किसी भी चीज पर पर बात करते हैं तो यूं ही हवा में नहीं की जा सकती। अब बात आती है कि विज्ञान नागमणि के बारे में क्या कहती है —

नाग मणि का रहस्य – दोस्तों विज्ञान इस बात को सिरे से खारिज करती है की नागमणि जैसे भी चीज होती है जबकि आज तक दुनिया में ऐसा कोई सांप नहीं मिला कि उसके मुंह या माथे पर कोई नागमणि हो। और ना ही सांप की पूरी बॉडी में ऐसी कोई चीज होती है कि सब नागमणि को बना सकें। यानी किसी भी तरीके से सांप के पास नागमणि होने के कोई भी चांस नहीं है। मतलब आप भी सोच सकते हैं अगर शॉप के पास मनी होती तो वह सबसे पहले अपने लिए ही बहुत कुछ मांग ली होती।

nagmani kahan hoti hai

नाग मणि का रहस्य – जैसा कि कहा जाता है मनी उसी सांप के पास होती है जो 100 साल या उससे ज्यादा उम्र का होता है पर ऐसे किसी भी साथ की जिंदगी उम्र सीमा 40 से 50 वर्ष की होती है। तू जब सांप की उम्र ही 50 की हो तब 100 साल वाला सांप के मनि का बात दूर ही हो। अब जरा गौर करें कि हमारे पास मनी का कांसेप्ट कैसे पहुंचा। तो उसका श्रेय जाता है बॉलीवुड फिल्म की ओर, इससे हमारे बॉलीवुड में जो बोली होती है —

नाग मणि का रहस्य – उसमें लगभग सारी फिल्म का कांसेप्ट एक जैसा ही होता है कभी कोई इंसान नाग और नागिन और नाग मणि के लिए मार देता है। तब उसका बदला उसका प्रेमी नागिन नागिन लेने के लिए तैयार होता है। लेकिन दोस्तों कहीं ना कहीं या कभी ना कभी ऐसा कुछ तो हुआ ही होगा जिसके कारण आज भी नागमणि वाली कहानी स्टोरी कई वर्षों से सुनाई जाती है। और आज भी यह कहानी दुनिया में सुनाई जा रही है ।

What is a Nagmani – चलीये आपको यह बताते हैं नागमणि की असली कहानी कहां से शुरू हुई। क्या सच है या झूठ आप इसी कहानी से समझ सकते हैं। कि आप जानते हैं कि नागमणि वाली स्टोरी कहानी हम सब की लाइफ से कनेक्टेड जुड़ा हुआ है। मतलब कि हम सभी के बॉडी में ही नागमणि छुपी हुई है। आप हैरान मत होइए और अपनी बॉडी में मनी मत ढूंढने लग जाएगा क्योंकि हम जिस ह्यूमन बॉडी की बात कर रहे हैं जो फिजिकल नहीं अष्ट रिचुअल है।

nagmani kaisi hoti hai

अब बात करते हैं क्या कनेक्शन है ह्यूमन बॉडी और नागमणि का।

नाग मणि का रहस्य – आप अपनी बॉडी में उपस्थित चक्रों के बारे में तो सुना ही होगा। हम सभी के शरीर में सात चक्र होते हैं। पहले आपको यह बता दे की बॉडी में सात चक्र कहां कहां होते हैं। तो मूलाधार चक्र हमारे बॉडी के प्राइवेट पार्ट में, स्वाधिष्ठान चक्र उससे कुछ ऊपर, मणिपुर चक्र नाभि के स्थान पर, अनाहत चक्र हृदय में, विशुद्धि चक्र गले में, आज्ञा चक्र दोनों आंखों के आइब्रो के बीच में, सहस्त्रार चक्र हमारे सिर के छोटी वाली जगह पर होते हैं। —

chakra

बहुत पुराने समय में इसे इंसानों के कुंडली शक्ति को बताने के लिए हमारे विद्वानों ने सांप को ह्यूमन स्प्रिचुअल बॉडी को बताने के लिए सिंबल यूज किया था। अगर आप सांप को लंबा करके रखते हैं और जहां हमारा सर होता है। वैसे ही सांप का सिर रखते हैं। तो इंसान का जो चक्र उसके सिर पर होता है। वह सांप के फन पर देखा जाएगा। यानी कि जो नागमणि है असल में कुछ और ना होकर इंसान के अध्यात्मिक शरीर में पाया जाने वाला सहस्त्रार चक्र होता है। —

manusya ka chakra

नाग मणि का रहस्य – अब आप समझ गए होंगे कि सांप की आड़ लेकर हमारे विद्वानों ने कौन सी मनी को हासिल करने की बात कही है। अब आपके दिमाग में एक सवाल होगा कि यह सब इच्छाधारी नाग और नागिन वाली बात की कहानी बनाने की जरूरत ही क्या थी। यानी कि सीधे-सीधे यह संदेश हमें भी दे सकते थे। पर कहते हैं ना इंसान को हर चीज में मसाला चाहिए। हर किसी की दान पुण्य की खबर से ज्यादा चोरी की खबर फैलती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.